English
मुख्य विशयवस्तु में जाएं
Prof U R Rao Dr. Vikram Sarabhai

मुखपृष्ठ : हमारे बारे में: संक्षिप्त विवरण

Last updated on: 06-Feb-2019

यू.आर.राव उपग्रह केंद्र (जिसे पहले इसरो उपग्रह केंद्र (आईज़ेक) के नाम से जाना जाता था), बेंगलूरु का संक्षिप्त विवरण

  • यू.आर.राव उपग्रह केंद्र (जिसे पहले इसरो उपग्रह केंद्र (आईज़ेक) के नाम से जाना जाता था), अभिकल्प, विकास, संचार का कोडांतरण व समाकलन, नौसंचालन, सुदूर संवेदन, एवं वैज्ञानिक तथा लघु उपग्रह अभियानों के लिए भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन का एक अग्रणीय केन्द्र है।

  • अभियंताओं, वैज्ञानिकों एवं तकनीशियनों की विशिष्ट टीमों के नेतृत्व में, यू.आर.एस.सी. ने दूरसंचार, दूरदर्शन प्रसारण, वीसैट सेवाएँ, दूर-चिकित्सा, दूरशिक्षा, नौसंचालन, मौसम पूर्वानुमान, आपदा चेतावनी एवं खोज तथा बचाव प्रचालन, भू-प्रेक्षण, प्राकृतिक संसाधान प्रबंधन, वैज्ञानिक एवं अंतरिक्ष विज्ञान इत्यादि जैसे क्षेत्रों में विभिन्न अनुप्रयोगों के लिए 70 से भी अधिक जटिल तथा उन्नत उपग्रह प्रणालियों का निर्माण किया है।
  • समाज के हर क्षेत्र को अंतरिक्ष प्रौद्योगिकी के लाभों को पहुँचाने के उद्देश्य से यू.आर.एस.सी., देश के लिए लागत प्रभावी अंतरिक्ष ढांचा सृजित करने में सक         ...आगे

  
विद्युत प्रकाशिकी तंत्र प्रयोगशाला (LEOS):
  • विद्युत प्रकाशिकी तंत्र प्रयोगशाला (लियोस) पीण्या इंडस्ट्रियल एस्टेट, बेंगलूरु में 1993 में स्थापित किया गया जहाँ 1975 में प्रथम भारतीय उपग्रह आर्यभट्ट का संविरचन किया गया था
  • लियोस, उपग्रहों एवं प्रमोचन यानों के लिए विद्युत-प्रकाशिकी संवेदक तथा कैमरा प्रकाशिकी का अभिकल्प, विकास एवं उत्पादन करने में कार्यशील है।