English
मुख्य विशयवस्तु में जाएं
Prof U R Rao Dr. Vikram Sarabhai
मुखपृष्ठ : विज्ञान उन्नयन : एन.एस.डी-2015 सार गत अद्यतन: 25-Apr-2016

एनएसडी-2015: सार

बेंगलूरु के व आसपास के स्कूल व कालेज के विद्यार्थियों की प्रतिभागिता से हरवर्ष राष्ट्रीय विज्ञान दिवस (रा.वि.दि.) का आयोजन किया जाता हैं। लोगों के दैनंदिन जीवन में वैज्ञानिक उपयोग की महत्ता के बारे में संदेश का प्रसार करने के लिए ही इसे मनाया जाता है। यू.आर.राव उपग्रह केंद्र (जिसे पहले इसरो उपग्रह केंद्र (आईज़ेक) के नाम से जाना जाता था) द्वारा हमारे दैनंदिन जीवन में अंतरिक्ष विज्ञान व संबंधित प्रौद्योगिकी तथा इसके विस्तृत उपयोग के बारे में विद्यार्थियों में जागरूकता लाने के मतसद से राष्ट्रीय विज्ञान दिवस लिए मनाया जाता है। इस साल के राष्ट्रीय विज्ञान दिवस का विषय है राष्ट्र निर्माण के लिए विज्ञान।

यू.आर.एस.सी. में 2 मार्च 2015 को राष्ट्रीय विज्ञान दिवस मनाया गया। विद्यार्थियों को निम्नलिखित श्रेणी में विभाजित किया गयाः
श्रेणी – एः 1 से 4 कक्षा तक

श्रेणी – बी: 5 से 7 कक्षा तक
श्रेणी – सी: 8 से 10 कक्षा तक

निम्नलिखित प्रतियोगिता तीन अलग दिनांक में आयोजित किया गया (21 फरवरी – 2015, 28 फरवरी – 2015 व 2 मार्च – 2015)

क्र. सं.
प्रतियोगिता का नाम
अर्ह श्रेणी
1 निबंध प्रतियोगिता बी,सी
2 आशुभाषण विज्ञान वाग्मिता बी,सी
3 विज्ञान क्रिया वैज्ञानिक मिज़ाज परीक्षा सी
4 विज्ञान क्रिया में बी,सी
5 स्पॉट पैंटिंग ए,बी
6 विज्ञान प्रश्नोत्तरी सी
7 शिक्षकों के लिए प्रतियोगिता विज्ञान शिक्षकों के लिए

21 फरवरी को करीब 23 स्कूलों से 150 विद्यार्थियों ने निबंध व आशुभाषण विज्ञान वाग्मिता प्रतियोगिता में भाग लिया।

28 फरवरी को 36 स्कूलों से 200 विद्यार्थियों ने वैज्ञानिक मिज़ाज परीक्षा व विज्ञान क्रिया में प्रतियोगिता में भाग लिया। विज्ञान शिक्षकों के लिए “विज्ञान के जरिए राष्ट्र निर्माण में विद्यार्थियों को कैसे प्रेरित करना है” प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस प्रतियोगिता में विविध स्कूलों से 8 प्रतिभागियों ने भाग लिया।

2 मार्च को करीब 50 स्कूलो से 400 विद्यार्थियों ने स्पॉट पैटिंग व विज्ञान प्रश्नोत्तरी में भाग लिया। विद्यार्थी – शिक्षक और माता-पिता ने यू.आर.एस.सी. के उपग्रह प्रदर्शिनी गैलरी में भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम की सफल गाथा का दर्शन किया