English
मुख्य विशयवस्तु में जाएं
Prof U R Rao Dr. Vikram Sarabhai
मुखपृष्ठ : विज्ञान उन्नयन : एन.एस.डी-2016 सार गत अद्यतन: 24-Apr-2016

एन.एस.डी-2016 सार

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस को इसरो उपग्रह केंद्र में छात्रों और शिक्षकों द्वारा विभिन्न प्रतियोगिताओं में उत्साह पूर्ण भागीदारी के साथ मनाया गया। दिन की शुरूआत विभिन्न प्रतिस्पर्धा के साथ हुई - विज्ञान प्रश्नोत्तरी और स्पॉट पेंटिंग दो अलग अलग स्थानों पर एक साथ आयोजित किए गए। छात्रों और शिक्षकों ने अंतरिक्ष प्रदर्शनी जहां विभिन्न उपग्रह मॉडल आर्यभट्ट से मंगल ऑर्बिटर मिशन को प्रदर्शित किया था का दौरा करने में बहुत रुचि दिखाई। मोबाइल तारामंडल, जो एक नया आकर्षण है की शुरुआत इस साल की है ने काफी भीड़ को आकर्षित किया है, 3 डी वातावरण में विभिन्न ब्रह्मांडीय घटनाओं को करीब 500 छात्रों ने देखा।

राष्ट्रीय विज्ञान दिवस समारोह के तहत, आठ प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया, जिसमें बेंगलुरू के सभी कोनों से शिक्षकों और छात्रों ने भाग लिया और एक दूसरे के साथ प्रतिस्पर्धा को देखा।

निबंध लेखन ने करीब 180 छात्रों को आकर्षित किया जो कन्नड़, हिंदी और अंग्रेजी में वैज्ञानिक विषयों को चुनकर उसपर पर अपने विचारों को व्यक्त करने के लिए उत्सुक थे। डॉ कस्तूरीरंगन विशेष पुरस्कार दो श्रेणियों के लिए तीन भाषाओं में प्रत्येक में सबसे अच्छा निबंध लिखने के लिए सम्मानित किया गया। बच्चों में विज्ञान की समझ और उनके सवालों का 'कैसे' और 'क्यों' के लिए कारण बताने की क्षमता का आंकलन करने के लिए आयोजित वैज्ञानिक सोच का टेस्ट एक प्रतियोगिता थी। विज्ञान आशु भाषण द्वारा वाकटुता और वैज्ञानिक विचारों को व्यक्त करने के लिए छात्रों की क्षमता का परीक्षण किया, वह एक और आकर्षण था। समाज द्वारा आम समस्याओं जैसे "स्थानीय कचरा प्रबंधन" और "पावर संकट प्रबंधन" से निपटने के लिए नवीनत वैज्ञानिक प्रस्तावों को बाहर लाने के लिए प्रतियोगिता आयोजित किया गया था।

प्रतियोगिता है जिसमें छात्रों के लिए विभिन्न प्रयोगों का प्रदर्शन किया गया और मूल सिद्धांत प्रतियोगिता द्वारा पता लगाया गया। इस प्रतियोगिता द्वारा का छात्रों को विज्ञान की बुनियादी बातों को समझने, और उन्हें लागू करने को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से किया गया। समारोह में शिक्षकों को ना छोड़ते हुए, उनके लिए भी प्रतियोगिता का आयोजन किया गया था, जिसके दौरान शिक्षकों द्वारा छात्र समुदाय को प्रेरित करने के लिए नवीन विचार प्रस्तुत किए गए।

एक मधुर गीत मंगलाचरण के साथ डॉ डी वी रमण, अध्यक्ष, राष्ट्रीय विज्ञान दिवस -2016 द्वारा स्वागत भाषण के साथ समापन समारोह दोपहर में शुरू हुआ। श्री अश्विन जी.एस ने सर सी वी रमन जिसके सम्मान में विज्ञान दिवस मनाया जाता है को जीवन व उपलब्धियों में एक अंतर्दृष्टि दी। डॉ एम अण्णादुरै, निदेशक आईजेक ने समारोह की अध्यक्षता की। इस अवसर के मुख्य अतिथि प्रो सी वी विश्वेश्वरा जवाहरलाल नेहरू तारामंडल, बैंगलोर के संस्थापक निदेशक, ने 'ब्लैक होल और गुरुत्वाकर्षण लहरों' शीर्षक पर आमंत्रित व्याख्यान दिया। एक लोकप्रिय लेखक और वक्ता होने के नाते, उनके व्याख्यान ने अत्यधिक प्रेरित किया। मंच पर गणमान्य व्यक्तियों द्वारा विजेताओं को पुरस्कार के वितरण के साथ कार्यक्रम संपन्न हुआ।